Tuesday, 4 November 2014

प्रांतीय सम्मलेन

 शिक्षकों की छवि में गिरावट सरकार भी जिम्मेदार: सिंहDainikbhaskar.comNov 3, 2014, 04:50:04 AM ISTराजस्थानशिक्षक संघ (एकीकृत) के प्रदेशाध्यक्ष त्रिलोक सिंह का कहना है कि यह सही है कि सरकारी स्कूलों के शिक्षकों की छवि में निरंतर गिरावट आई है, लेकिन इसके लिए शिक्षक ही नहीं सरकारें ज्यादा उत्तरदायी हैं। वर्तमान की शिक्षा स्थिति राज्य सरकार के तुगलकी निर्णयों के प्रभाव का कारण है। वे रविवार को सूचना केंद्र के पास एक रेस्टोरेंट में पत्रकार वार्ता में अपनी बात कह रहे थे। उन्होंने कहा कि सत्र के बीच बिना किसी नीति के स्थानांतरण, बिना स्पष्ट योजना के स्कूलों का एकीकरण, मिड डे मील, बीएलओ, सरकार आपके द्वार आदि कार्यक्रमों के कारण शिक्षक को मानसिक तनाव से गुजरना पड़ रहा है। शिक्षा एवं शिक्षकों से जुड़ी समस्याओं को लेकर 7 8 नवंबर को प्रांतीय शिक्षक सम्मेलन में चर्चा कर प्रस्ताव पारित किए जाएंगे। जो राज्य सरकार को भेजे जाएंगे। स्थानांतरण के लिए स्थाई नीति बनाने की जरूरत है। ऐसा नहीं होने के कारण शिक्षक को तनाव से गुजरना पड़ता है। जिसका असर काम पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि गैर शैक्षणिक कार्य शिक्षकों से रोक के बावजूद कराए जाते हैं। वर्षभर में ऐसी गतिविधियों से शिक्षक को जोड़े रखा जाता है। जिससे शिक्षा पर असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि प्रांतीय सम्मेलन 7 8 नवंबर को राजेंद्र मार्ग स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में होगा। उन्होंने बताया कि प्रांतीय सम्मेलन में शैक्षिक उन्नयन पर चर्चा होगी। सम्मेलन में प्रदेशभर से संगठन कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष बालस्वरूप जीनगर, प्रदेश मीडिया प्रभारी घनश्याम शर्मा, संयोजक नवरतन खटीक, परमेश्वर प्रजापति आदि ने भी विचार व्यक्त किए। संगठन के पदाधिकारियों की मीटिंग भी हुई। प्रांतीय अधिवेशन कार्यक्रम के पोस्टर का भी विमोचन किया गया।